पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

सोमवार, 29 अगस्त 2011

आइये मिलिये ग़ुडिया इंग्लिशतान से























आओ मिलाऊँ सबको मै 
गुडिया इंग्लिशतान से 
रहन सहन आचार वि्चार मे 
जिसके बसता हिन्दुस्तान है 
इंग्लिशतान से आयी वो 
मगर हिंदी ना भूल पायी जो 
रुसी , अंग्रेजी , हिंदी सब भाषाओं का
जिसको ज्ञान है
पर सबसे ऊपर  अपनी
हिन्दुस्तानी जबान है 
खुशदीप सहगल, सर्जना शर्मा, गीताश्री ने
  शिखा वार्ष्णेय से मिलने को 
प्रेस क्लब मे ब्लोगर मीट कराई है 
राकेश कुमार और राजीव तनेजा 
सपत्नीक पधारे थे 
उसमे हमने भी अपने हाथ आजमाये थे 
मीठी वाणी ने सबके मन को मोहा था
  प्रेम भरी वाणी ही सब ब्लोगर का तोहफ़ा था
  बातों की सबने खूब
धमाचौकडी मचाई थी 
खाने पीने के लिए
पेट भी किराये पर मंगवाये थे 
जितना  खाया उतना ही
बैठकर वार्तालाप किया 
राजनीति से लेकर 
घर दुनिया तक
सब पर विचारों का आदान प्रदान किया 
अब कैसे कह दें ये दुनिया आभासी है 
जब विदेशी धरतीवासी
भारतीय भी मिलन को आये थे 
दूरी का ना कोई महत्त्व रहा 
सिर्फ़ स्नेह का ही आदान प्रदान हुआ 
हंसी खुशी शुभकामनाओं संग
  शिखा जी को विदा किया 
प्रेम के नाते बने रहें 
ब्लोगर मीट होती रहे 
ब्लोगिंग आगे बढती रहे 
यही कामना करते हैं
 चलो दोस्तों अब हम भी विदा लेते हैं।


















46 टिप्‍पणियां:

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

man spandit ho gaya ....:)
"spandan" ki mallika ko dekh kar:D

अजय कुमार ने कहा…

saphal evam snehpoorn meeting kee badhayi

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…

.



शिखा वार्ष्णेय जी से मुलाकात के लिए आभार !
… लेकिन इन तस्वीरों में वंदना जी , आपको पहचान नहीं पाया … :)


ब्लॉगर मीट होती रहे ब्लॉगिंग आगे बढती रहे यही कामना है…

शुभकामनाओं सहित
राजेन्द्र स्वर्णकार

Rakesh Kumar ने कहा…

आपका कमाल है वंदनाजी.
इतनी शीघ्र ही इतनी प्यारी पोस्ट आपने जारी
कर दी है,यह तो वास्तव में काबिले तारीफ़ है.
'गुडिया इन्ग्लिशतान' शीर्षक ने मन मोह लिया है.
शिखा वार्ष्णेयजी भले ही 'गुडिया इन्ग्लिशतान'
हों पर दिल तो उनका शत प्रतिशत हिन्दुस्तानी ही है.
ब्लोग्गर्स मिलन शानदार रहा.

नूतन .. ने कहा…

बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति दी है आपने ... ।

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

येल्लो जी आप लोगों से मिलने से हम ही चूक गए....... आप सभी को बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

येल्लो जी आप लोगों से मिलने से हम ही चूक गए....... आप सभी को बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं

वन्दना ने कहा…

@ ब्लॉ.ललित शर्मा जी
आप तो वहाँ उपस्थित थे ये कैसे कह दिया………हमारी बातों मे आप भी शामिल थे चाहे आभासी रूप मे थे मगर शामिल थे आपको याद भी सबने खूब किया।

वन्दना ने कहा…

@राजेन्द्र स्वर्णकार जी
मस्टर्ड कलर मे खुले बालों मे सूट पहने मै ही हूँ और आपने पहचाना नही ये तो हद हो गयी।

anu ने कहा…

waha bahut khub....aise hi sabko sath le kar chale..........aabhar

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…

:)

समझें बात को …

मंच का कवि शायर हूं … कभी किसी कार्यक्रम में बुला कर हमें भी सुनिए सुनाइए , तो पहचानेंगे न :))


शुक्रिया !

राजीव तनेजा ने कहा…

Badhiya chitrmayi report....

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

वंदना जी बता रही हैं हाल अहवाल एक ब्लॉगर मीट का
ब्लॉगर्स मीट वीकली (6) Eid Mubarak में आपका स्वागत है।
इस मुददे पर कुछ पोस्ट्स मीट में भी हैं और हिंदी ब्लॉगिंग गाइड की 31 पोस्ट्स भी हिंदी ब्लॉग जगत को समर्पित की जा रही हैं।

rashmi ravija ने कहा…

अच्छा लग रहा सबको यूँ साथ देख, ये मिलना-जुलना चलता रहे.

मदन शर्मा ने कहा…

बहुत अच्छा प्रयास है आपके बधाई हो आपको!

मदन शर्मा ने कहा…

बहुत अच्छा प्रयास है आपके बधाई हो आपको!

Maheshwari kaneri ने कहा…

शिखा वार्ष्णेय जी से मुलाकात के लिए आभार ! आप सभी को बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं...

ashish ने कहा…

सुँदर चित्र और उतनी ही सुँदर रचना . गात सप्ताह . शिखा जी से मिलने का अवसर मुझे भी मिला था . सच में वो दिल से हिन्दुस्तानी है .

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल मंगलवार के चर्चा मंच पर भी की गई है! यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

achhi jankari mili vandna ji......

PRAN SHARMA ने कहा…

Vandana ji , padh - dekh kar badaa
sukhad lagaa . Shubh kamnaayen .

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

वाह, यही माहौल बना रहे।

मनोज कुमार ने कहा…

बहुत अच्छा लगा यह चित्रमय प्रस्तुति।

रजनीश तिवारी ने कहा…

बहुत सुंदर तरीके से प्रस्तुत किया आपने ये संस्मरण । बधाई ...

Atul Shrivastava ने कहा…

इस मेल मुलाकात के लिए आप सबको बधाई....

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

इस लघु ब्लागर मीट के द्वारा शिखा वार्ष्णेयजी से मुलाकात करवाने हेतु आभार आपका ।

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

छत्रों से मुलाक़ात बढ़िया रही ... बधाई ..

Rajesh Kumari ने कहा…

achche chitra achchi prastuti.

वाणी गीत ने कहा…

यह सद्भाव और मेलजोल बना रहे !

संजय भास्कर ने कहा…

शिखा वार्ष्णेय जी से मुलाकात के लिए आभार सभी को बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं

ajit gupta ने कहा…

यह मुलाकात कौन सी तारीख को थी? वैसे आप सभी को बधाई।

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

बढ़िया काव्यात्मक रिपोर्ट...

इमरान अंसारी ने कहा…

सुन्दर चित्र हैं.......जानकार अच्छा लगा गुड़िया के बारे में........इनमे से आप वही है न जिसने लाल रंग का सूट पहना हुआ है?

नीरज गोस्वामी ने कहा…

ब्लोगर मीट का बहुत ही रोचक वर्णन...आपका प्रस्तुतीकरण लाजवाब हैं.

नीरज

mahendra srivastava ने कहा…

बहुत बढिया

Khushdeep Sehgal ने कहा…

ये कौन आया, रौशन हो गई,
महफ़िल जिसके नाम से,
हमारी दिल्ली में सूरज निकला,
शिखा के नाम से...

वंदना जी, बढ़िया वर्णन...एक बात और ये गिलास देखकर किसी को गलतफहमी न हो, उसमें कुछ गड़बड़ नहीं सिर्फ पीच टी थी...

यहां सभी ने डॉ अमर कुमार को शिद्दत के साथ याद किया और शुरूआत में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए मौन रखा गया...

जय हिंद...

ZEAL ने कहा…

गुडिया से मिलकर अच्छा लगा।प्रेम बना रहे।

Vivek Jain ने कहा…

बहुत सुंदर प्रस्तुति,


एक चीज और, मुझे कुछ धर्मिक किताबें यूनीकोड में चाहिये, क्या कोई वेबसाइट आप बता पायेंगें,
आभार- विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

Kunwar Kusumesh ने कहा…

जैसे ही आसमान पे देखा हिलाले-ईद.
दुनिया ख़ुशी से झूम उठी है,मनाले ईद.
ईद मुबारक

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') ने कहा…

बढ़िया चित्र...
रोचक वर्णन...
हार्दिक बधाई...

Ojaswi Kaushal ने कहा…

Hi I really liked your blog.

I own a website. Which is a global platform for all the artists, whether they are poets, writers, or painters etc.
We publish the best Content, under the writers name.
I really liked the quality of your content. and we would love to publish your content as well. All of your content would be published under your name, so that you can get all the credit for the content. This is totally free of cost, and all the copy rights will remain with you. For better understanding,
You can Check the Hindi Corner, literature and editorial section of our website and the content shared by different writers and poets. Kindly Reply if you are intersted in it.

http://www.catchmypost.com

and kindly reply on mypost@catchmypost.com

पी के शर्मा ने कहा…

प्रिय दोस्तों ,
मेरे ब्लॉग को गूगल ने मिटा दिया है ,अत आपसे अनुरोध है की आप मेरे नए ब्लॉग www.pkshayar.blogspot.com पर पधार कर मेरा मार्गदर्शन करे ,
तथा फोलोवर बनकर मुझे आश्रीवाद प्रदान करे .

रूप ने कहा…

Lovely Photographs n nice lyric !

Dr Varsha Singh ने कहा…

विमर्श के ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए … शुभकामनाएं !

shikha varshney ने कहा…

क्या बात है वंदना जी ! गज़ब हि कर दिया आपने तो.इतनी इज्जत इतना प्यार ...पाँव हवा में उड़े जा रहे हैं हमारे तो :).
वैसे शुक्रिया तो मुझे करना है एक बेहद खूबसूरत मुलाकात के लिए.आज ही लौटी हूँ,सो शब्दों का अकाल सा लग रहा है.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बधाई हो इस ब्लोगेर मिलन की ... कुछ लोगों को तो पहचान लिया ... कुछ को नहीं ...