पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

सोमवार, 1 जुलाई 2013

इंतज़ार के कहकहे खुद लगाना ………



मेरे ख्वाबों की जलपरी ने 
इंतज़ार के शहजादे को 
जब से आँख की पुतली बनाया 
दिन गूंगे हो गए 
और रातें तन्हाई का लिबास पहन सुहागन 
क्या फर्क पड़ता है 
आस्मां तारों भरी चूनर पहने 
या अर्धरात्रि के चाँद से रोशन हो 

ख्वाबों की दुनिया से हकीकत की दुनिया तक के
फासले यूं ही तय नहीं किये जाते 
बिना रंगों के फूल सेज पर कितना सहेजो 
इंतज़ार के शहजादे हर दुल्हन की मांग नहीं भरा करते 

वो दूर वीराने में मंदिर में जलता दीया हो 
या दिल के तहखाने में जलती आस की शम्मा
ख्वाबों की जलपरियाँ कर ही लेती हैं अपने चाँद का दीदार 

अब वक्त के रौशनदान से चाहे झडे या नहीं कोई आस की किरण
ख्वाबों की शहज़ादियाँ बना ही लेती हैं 
इंतज़ार के शहज़ादे का ताजमहल 
और बुतपरस्ती बन जाती है उनकी इबादत उनका जुनून 

इंतज़ार के कहकहे खुद लगाना ………ये भी अन्दाज़ है इक मोहब्बत का 

15 टिप्‍पणियां:

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

एक अंतहीन किस्सा...
बहुत सुंदर

Anita ने कहा…

इंतजार का लुत्फ़ वही जानता है जो इंतजार करता है..

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

वाह-वाह...!
क्या कहें इस रचना के बारे में!
बरसात में ऐसा स्रजन होना स्वाभाविक ही है!

अरुन शर्मा 'अनन्त' ने कहा…

आपकी यह रचना कल मंगलवार (02-07-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

Shalini Kaushik ने कहा…

.बहुत सुन्दर भावनात्मक अभिव्यक्ति . आभार मुसलमान हिन्दू से कभी अलग नहीं #
आप भी जानें संपत्ति का अधिकार -४.नारी ब्लोगर्स के लिए एक नयी शुरुआत आप भी जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सुन्दर, गहन

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार८ /१ /१३ को चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहां स्वागत है।

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

इस अंदाज़ से भी परिचय मिला ...बहुत खूब

Udan Tashtari ने कहा…

बेहतरीन!!

सुरेन्द्र "मुल्हिद" ने कहा…

beautiful...

meri nayi post par aapka swaagat hai...

http://raaz-o-niyaaz.blogspot.com/2013/07/blog-post.html

jyoti khare ने कहा…

मन को छूती हुई सुंदर अनुभूति
बेहतरीन रचना
बधाई

Pallavi saxena ने कहा…

इंतज़ार जितना सुखद होता है उतना ही पीड़ा दायी भी,फिर भी उम्मीद पर दुनिया कयाम है :)

sushma 'आहुति' ने कहा…

खुबसूरत अभिवयक्ति...... .

रश्मि शर्मा ने कहा…

मजा भी है दर्द भी है इस इंतजार में....

Anju (Anu) Chaudhary ने कहा…

बिना किसी छोर के एक अंतहीन किस्सा