पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लॉग से कोई भी पोस्ट कहीं न लगाई जाये और न ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

सोमवार, 16 जून 2014

कवि कैसे कह गया हमारे दिल की बात

पाठकनामा पर मेरे द्वारा लिखी विमलेश त्रिपाठी के काव्य संग्रह ' एक देश और मरे हुए लोग ' की समीक्षा इस लिंक पर पढ सकते हैं

http://pathhaknama.blogspot.in/2014/06/blog-post.html
 

1 टिप्पणी:

Smita Singh ने कहा…

बेह्तारीन