पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

मंगलवार, 31 दिसंबर 2013

स्वागत तो आपको करना ही पडेगा

स्वागत तो आपको करना ही पडेगा 
विगत के भय , संशयों और आशंकाओं को त्याग कर 
क्योंकि विगत की कहीं ना कहीं की गयी 
उपेक्षा ही कारण होती है 
आगत के दर्शन का 
आगत के शोक का 
आगत के भय का 
और इस बार त्यागना है उन आशंकाओं की मशालों को 
जिनसे भयभीत हम करते हैं बीजारोपण 
आने वाले कल में उन बीजों का 
जिनकी कोई शक्ल नहीं होती 
मगर हम खींच देते हैं तस्वीर 
और फिर करते हैं स्यापा ये जाने बिना 
निर्माता हैं हम खुद ही उस तस्वीर के 
जनक हैं उस शिशु के जिसका जन्म 
हमारी ही नपुंसकता से हुआ है 
और ये सिलसिला यूँ ही चलता रहा था और चलता रहेगा 
जब तक नहीं होंगे हम मुक्त 
अपनी ही आशंकाओं के बादलों से 
और नहीं करेंगे स्वागत आगत का 
हर्षमिश्रित मुस्कानों और मीठी ज़ुबानों से 
आओ करें आहवान एक खुशगवार कल का ............


नववर्ष 2014 सभी के लिये मंगलमय हो ,सुखकारी हो , आल्हादकारी हो …………

9 टिप्‍पणियां:

देवदत्त प्रसून ने कहा…

सभी मित्रों को वर्ष २०१३ की विदाई के लिये वधाई ! सभी के जीवन में नव वर्ष बहार बन कर आये!!
रचना में गंभीरता के साथ साथ एक अंतर्निहित पीड़ा भी है !!
मेरे ब्लोगों "प्रसून" व 'साहित्य प्रसून' मवं विगत वर्ष की विदाई' में आप का स्वागत है !!

देवदत्त प्रसून ने कहा…

सभी मित्रों को वर्ष २०१३ की विदाई के लिये वधाई ! सभी के जीवन में नव वर्ष बहार बन कर आये!!
रचना में गंभीरता के साथ अंतर्निहित पीड़ा भी है !!
!! मेरे ब्लोगों "प्रसून" व 'साहित्य प्रसून' मवं विगत वर्ष की विदाई' में आप का स्वागत है !!

देवदत्त प्रसून ने कहा…

सभी मित्रों को वर्ष २०१३ की विदाई के लिये वधाई! सभी के जीवन में नव वर्ष बहार बन कर आये!!
रचना में गंभीरता के साथ साथ अंतर्निहित पीड़ा भी निहित है !!
मेरे ब्लोगों "प्रसून" व 'साहित्य प्रसून' मवं विगत वर्ष की विदाई' में आप का स्वागत है !!

अनुपमा पाठक ने कहा…

आगत का स्वागत...
इस परंपरा का निर्वहन तो करना ही होगा!

नव वर्ष की अनंत शुभकामनाएं!

Prasanna Badan Chaturvedi ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रस्तुति...आप को और सभी ब्लॉगर-मित्रों को मेरी ओर से नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं...

नयी पोस्ट@एक प्यार भरा नग़मा:-तुमसे कोई गिला नहीं है

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
--
गये साल को है प्रणाम!
है नये साल का अभिनन्दन।।
लाया हूँ स्वागत करने को
थाली में कुछ अक्षत-चन्दन।।
है नये साल का अभिनन्दन।।...
--
नवल वर्ष 2014 की हार्दिक शुभकामनाएँ।

रविकर ने कहा…

हो जग का कल्याण, पूर्ण हो जन-गण आसा |
हों हर्षित तन-प्राण, वर्ष हो अच्छा-खासा ||

शुभकामनायें आदरणीया

Anita ने कहा…

नव आशा जगाती सुंदर पंक्तियाँ

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुंदर रचना !
नव वर्ष शुभ हो !