पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लोग से कोई भी पोस्ट कहीं ना लगाई जाये और ना ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

शुक्रवार, 13 फ़रवरी 2009

वो पहली छुअन

वो पहली छुअन
चाहे तन की हो
या मन की
ज़िन्दगी भर
यादों के झरोखों में ,
अहसासों के दामन में
जिंदा रहती है
हर याद
हर अहसास
इंसान भूल जाता है
वक्त के साथ
मगर
पहली छुअन
दिल के किसी
खास कोने में
सिमटी होती है
ज़रा सा
दिल को टटोलो
ओर वो अहसास
जो ताजगी से
सराबोर होते हैं
फिर उसी खास पल में
ले जाते हैं
जब दिल में
उस छुअन ने
दस्तक दी थी
तन की छुअन से ज्यादा
मन की छुअन
यादों में
बहुत गहरे
कहीं महफूज़ होती है
उसका अहसास
कुछ खास होता है
कोई हर पल
अपने आस पास
होता है
बस यही तो प्रेम का पहला आभास होता है 

10 टिप्‍पणियां:

रंजना ने कहा…

वाह !! कोमल भावनाओ को बहुत ही सुंदर अभिव्यक्ति दी है आपने...वाह.

अनिल कान्त : ने कहा…

सचमुच पहली छुअन को कभी नही भुलाया जा सकता ...और कोई तो कुछ भूल भी जाए मगर मन की पहली छुअन को कभी नही भुलाया जा सकता ...

मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

अनिल कान्त : ने कहा…

मैं पसंद पर क्लिक कर चुका हूँ ...बहुत अच्छी है

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

बहुत खूब

उस छुअन ने
दस्तक दी थी
तन की छुअन से ज्यादा
मन की छुअन
यादों में
बहुत गहरे
कहीं महफूज़ होती है
उसका अहसास

mehek ने कहा…

waah bahut sundar

Dr.Bhawna ने कहा…

Bahut sundar abhivayakti..

Vijay Kumar Sappatti ने कहा…

pahli chuan ko kabhi bhiu nahi bhulaya ja sakta hai , chahe wo man ki ho ya tan ki

कोई हर पल
अपने आस पास
होता है

aur sach men hi har pal koi aas paas hota hai ...

badhai ji

वाणी गीत ने कहा…

खूबसूरत अहसास की बयानगी मन जुड़ा रही है !

Madan Mohan Saxena ने कहा…

वाह !सुंदर अभिव्यक्ति

सुधाकल्प ने कहा…


भावनाओं के सूत्र में पिरोया हुआ एक सत्य |