पेज

मेरी अनुमति के बिना मेरे ब्लॉग से कोई भी पोस्ट कहीं न लगाई जाये और न ही मेरे नाम और चित्र का प्रयोग किया जाये

my free copyright

MyFreeCopyright.com Registered & Protected

सोमवार, 25 अक्तूबर 2010

किसका दायित्व ?

वेदना का चित्रण
नैनों का दायित्व 
नैनों का चित्रण
अश्रुओं का दायित्व 
मगर
अश्रुओं का चित्रण 
किसका दायित्व ?

18 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

....
मगर
अश्रुओं का चित्रण
किसका दायित्व ?
--
निष्ठुर समाज का ही हो सकता है यह तो!
--
यह बहुत सुन्दर क्षणिका रही!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

....
मगर
अश्रुओं का चित्रण
किसका दायित्व ?
--
निष्ठुर समाज का ही हो सकता है यह तो!
--
यह बहुत सुन्दर क्षणिका रही!

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

संक्षिप्त किन्तु गंभीर कविता... अश्रुओं का चित्रण किसका दायित्व ? .. अच्छा प्रश्न पूछा है आपने !

Aashu ने कहा…

बहुत बड़ा सवाल किया है आपने. मानवीय संवेदनाओं को जो पूरी तरह से समझ ले, ऐसा मुझे कोई मिला नहीं, न मिलने की गुंजाइश नज़र आती है और यही कारण है कि ऐसे सवाल ज़हन में आते रहते हैं.
खैर, जवाब देना तो बड़ा मुश्किल है पर मेरे ख्याल में अश्रुओं का चित्रण उन दुखों से हो सकता है जो उन्हें निकलने पर मजबूर कर देते हैं या फिर उन खुशियों से जिनके मिलने पर वो ऐसे ही छलकने लगते हैं!

http://draashu.blogspot.com/2010/10/blog-post_25.html

रानीविशाल ने कहा…

अश्रुओं के चित्रण का दायित्व कोई समझे तो शायद चित्रण करने जितने अश्रुओं को बहाना ही न पड़े .....बहुत उम्दा

यशवन्त माथुर (Yashwant Raj Bali Mathur) ने कहा…

चाँद पंक्तियों में बहुत बड़ी बात की है आपने.आशु जी के विचारों से सहमत.

नीरज गोस्वामी ने कहा…

वाह...शब्दों की जादूगरी कोई आपसे सीखे...

नीरज

Udan Tashtari ने कहा…

उस भाव को जो अदृष्य अहसास हैं..

गहरी बात

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

कम शब्दों में बहुत कुछ कह दिया आपने.

daanish ने कहा…

मगर
अश्रुओं का चित्रण
किसका दायित्व ? ....

भावनाओं का . . .

JAGDISH BALI ने कहा…

एक यक्ष प्रश्न छोड़ा है आपने जिसके उतर मैं कई उतर दिए जाएंगे पर शायद उतर फ़िर भी न मिले !

रश्मि प्रभा... ने कहा…

bahut hi badhiyaa

मनोज कुमार ने कहा…

वेदना देने वाले का ....?

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हम सबका दायित्व, कवि रूप में।

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत खुब लेकिन इस प्रशन का जबाब हमारे पास भी नही हे जी, धन्यवाद

अजय कुमार ने कहा…

अश्रुओं का चित्रण
किसका दायित्व ?

अपनों का

वन्दना महतो ! (Bandana Mahto) ने कहा…

यह तो आज भी एक अबूझ पहेली है वंदना जी. इसका क्या उत्तर दे?

M VERMA ने कहा…

बहुत खूब